Showing posts with label desi girlfrnd. Show all posts
Showing posts with label desi girlfrnd. Show all posts

Saturday, 10 February 2018

ऑफिसर की बीवी को चोदा | Officer ki Biwi ko Chod Diya - Hindi Sex Stories


ऑफिसर की बीवी को चोदा | Officer ki Biwi ko Chod Diya - Hindi Sex Stories


प्रेषक : शेकी …
हैल्लो दोस्तों, में आप सभी हिंदी सेक्स स्ट्रोरियस डॉट कॉम  पर सेक्सी कहानियों के मज़े लेने वालों का सच्चा साथी हूँ और में भी आप सभी की तरह बहुत लंबे समय से सेक्सी कहानियों को पढ़कर इनके मज़े लेता आ रहा हूँ। दोस्तों में दिखने में अच्छा लगता हूँ और मेरी उम्र 38 साल है और में इंदौर का रहने वाला हूँ और अपनी आज की कहानी से पहले भी में अपने दूसरे सेक्स अनुभव को लिखकर आपकी सेवा में भेज चुका हूँ और आज अपने बड़े ही मस्त अनुभव को आप सभी के लिए लेकर आया हूँ। दोस्तों में मेरी आज की कहानी में बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने एक चुदाई के लिए प्यासी औरत की चुदाई करके उसको पूरी तरह से संतुष्ट किया।आप इस कहानी को एक हिंदी सेक्स स्टोरीस डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं। अब में आप सभी को बोर ना करते हुए पूरी घटना विस्तार से बताता हूँ। दोस्तों एक बार मुझे एक पानीपत से मैल आया, वो एक रानी नाम की शादीशुदा औरत का था और वो मुझसे दोस्ती करनी चाहती थी। मैंने भी उसकी मैल से दोस्ती बढ़ाना शुरू कर दिया। फिर धीरे धीरे वो मुझे अपने जीवन के बारे में खुलकर बताने लगी थी। अब मुझे पता चला कि उसका पति अच्छे गठीले बदन का है और उनके पास पैसे की भी कोई कमी नहीं है, लेकिन उसके पास बिल्कुल भी समय नहीं है क्योंकि वो एक बहुत बड़ा ऑफिसर है और हर कभी रात में भी उसको अचानक से अपनी ड्यूटी पर जाना पड़ता है और साथ ही साथ उसको अपने कामों की वजह से विदेश यात्राए भी करनी पड़ती है।

दोस्तों कुल मिलाकर रानी की चूत की प्यास अपने पति के साथ कभी नहीं बुझती थी और इस वजह से वो बहुत भूखी थी और फिर बातों ही बातों में मैंने उसको बताया कि में दिल्ली अपने काम की वजह से आता रहता हूँ। अब वो यह बात सुनकर मुझसे मिलने को बहुत बेकरार होने लगी थी और वो अब चाहती थी कि में उसकी चुदाई करके उसकी चूत को शांत करूं और उसकी चुदाई की प्यास को बुझा दूँ। फिर तीन दिन के बाद ही मेरा दिल्ली जाने का प्रोग्राम बन गया और फिर मैंने उसको मैल करके बता दिया कि में दिल्ली जा रहा हूँ। अब वो यह बात जानकर मुझसे मिलने की ज़िद करने लगी और फिर मैंने उसको बता दिया कि में जेट की फ्लाइट से आऊंगा और उसने मुझसे मिलने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट को चुना। अब उसने मुझे मैल पर अपना एक फोटो भेज दिया था इस वजह से मुझे उसका चेहरा नजर आकर में उसको ठीक तरह से पहचान गया था। फिर में जैसे ही एयरपोर्ट पर पहुंचा वहाँ मैंने देखा कि रानी मेरा बेसबरी से इंतज़ार कर रही थी। मैंने उसको मिलते ही हैल्लो कहा और फिर अपना पूरा प्रोग्राम उसको बताया कि शारजाह से तीन बजे मेरा एक ग्राहक आएगा और में उससे अपना ऑर्डर लेकर आज शाम की फ्लाइट से वापस इंदौर चला जाऊँगा।


loading...
फिर मेरी यह पूरी बात को सुनकर रानी मुझसे कहने लगी कि में भी आपके साथ होटल में चलना चाहती हूँ और आज शाम तक में आपके साथ वहीं पर रहूंगी। अब मैंने उसको अपने साथ में लेकर एक होटल में पहुंच गया और यहाँ में हर बार रुकता हूँ। फिर उस होटल के कमरे में जाते ही रानी ने तुरंत ही दरवाजा बंद किया और वो एक भूखी शेरनी की तरह मुझसे लिपट गयी और वो मुझे जहाँ तहाँ किस करने लगी थी। अब में भी उसको अपनी बाहों में जकड़कर उसको प्यार करने लगा था और मैंने उसको बहुत बार चूमा और हर एक अंग को चूमकर प्यार करने लगा था। फिर थोड़ी देर के बाद वो जोश में आकर धीरे धीरे अपनी साड़ी को उतारने लगी थी और जैसे ही उसने अपनी साड़ी का पल्लू छाती से हटाया उसी समय में उसके बड़े आकार के उभरे हुए गोलमटोल बूब्स को देखकर पागल हो गया। अब मेरा लंड एकदम बेकाबू होने लगा था और फिर पेटीकोट से साड़ी के हटते ही मेरा लंड जोश में आकर हिलोरे मारने लगा था और अब मुझसे बिल्कुल भी रुका नहीं जा रहा था। अब में उठकर उसके बदन से ज़ोर से लिपट गया, तभी उसने मुझे धक्का देकर बिस्तर पर लेटा दिया और वो अपना ब्लाउज खोलने लगी। दोस्तों मेरे सामने बिना देर किए अपने ब्लाउज को उतारकर उसके अब अपनी भूरे रंग की ब्रा को भी खोलकर अपने बूब्स को आज़ाद कर दिया था।

अब में उसके 38 इंच के गोरे बड़े ही आकर्षक बूब्स को देखकर अपना आपा खो बैठा, एकदम गोरे बूब्स पर हल्के भूरे रंग की उठी हुई बड़ी सी निप्पल थी और में उसके बूब्स को तुरंत अपने मुहं में भरकर ऐसे चूसने लगा जैसे कोई छोटा बच्चा अपनी माँ के बूब्स से अपनी भूख मिटाने के लिए निप्पल को अपने मुहं में भरकर उसका दूध पीने लगता है। दोस्तों में करीब आधे घंटे तक उसके दोनों बूब्स का बारी बारी से रसपान करता रहा और मैंने दोनों बूब्स को जोश में आकर दबा दबाकर चूसते हुए बिल्कुल लाल कर दिए थे। अब वो इतना सब होने की वजह से बहुत बेकाबू होने लगी थी और फिर उसने मुझे मेरे कपड़े उतारने के लिए कहा। फिर जैसे ही मैंने अपनी पेंट को उतारा तो उसने झट से आगे आकर मेरे अंडरवियर को उतार दिया और मुझे अपने हाथों को सहारा देकर सोफे पर बैठा दिया। फिर मुझे बैठाने के बाद उसने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़कर एक दो बार ऊपर नीचे करने के बाद नीचे झुककर तुरंत ही पूरे लंड को अपने मुहं में डाल लिया और चूसना शुरू किया। दोस्तों में बड़ा चकित हो चुका था क्योंकि मैंने अपने अब तक के सेक्स जीवन में पहली बार अपना लंड किसी औरत को अपने मुहं में लेते हुए देखा और उसका पहला अनुभव किया था वो पूरी दुनिया के सभी मज़े मस्ती से बिल्कुल अलग हटकर था।


loading...
दोस्तों अभी तक मैंने बहुत सारी सेक्सी फिल्म में अँग्रेज़ औरतों को यह सब करते हुए देखा था और आज मैंने वो काम अपने साथ करते हुए पाया। अब मेरे लंड को उसके मुहं में डालते ही में एक अलग ही दुनिया में जा पहुंचा था और वो मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर उसको लोलीपोप की तरह बड़े मस्त मज़े से चूसने लगी थी। दोस्तों जितना मज़ा उसको आ रहा था उससे भी ज्यादा में मन ही मन अपने लंड की मसाज उसके मुहं गरम जीभ से करवाकर बड़ा खुश था और थोड़ी ही देर के बाद अब मेरा वीर्य निकलने वाला। अब वो उस बात को तुरंत समझ चुकी थी कि अब मेरा वीर्य बाहर आने वाला है, लेकिन वो तो अब लंड को अपने मुहं में और भी ज़ोर ज़ोर से अंदर बाहर करने लगी थी। फिर कुछ देर बाद जैसे ही मेरा वीर्य निकलने लगा तो उसने लंड को मुहं से बाहर निकालकर वीर्य को अपने बूब्स पर अपने हाथों में लेकर मसलना शुरू कर दिया। अब मैंने देखा कि मेरे वीर्य से उसके दोनों बूब्स चिपचिपे हो चुके थे और वो उस अवस्था में बड़ी ही कामुक किसी चुदाई के लिए प्यासी रंडी की तरह नजर आ रही थी। फिर थोड़ी देर सुसताने के बाद वो दोबारा मेरे पास आ गई और मुझसे बड़े सेक्सी अंदाज़ में अपनी चूत को चाटने के लिए कहने लगी।आप इस कहानी को एक हिंदी सेक्स स्टोरीस डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।

अब में उसकी बात को सुनकर उसकी चूत के पास चला गया और फिर हिम्मत करके अपनी जीभ से में उसकी गीली गरम चूत की पंखुड़ियों को चाटने चूसने की कोशिश करने लगा था, जिसकी वजह से धीरे धीरे मुझे भी मधहोशी छाने लगी थी। अब में जोश में आकर ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत को चाटने लगा था। फिर मैंने उसको सामने लगे कांच में देखा, वो उस समय बिना पानी के मछली की तरह तड़प रही थी, और लगातार अपने कूल्हों को जोश में आकर ऊपर उठाकर मेरी जीभ को अपनी चूत में पूरा अंदर लेने की कोशिश करने लगी थी। अब मुझे लगने लगा कि अब मेरी अग्नि परीक्षा शुरू होने वाली है और यह बात सोचकर मैंने मन ही मन में सोचा कि क्यों ना इसकी चूत का पानी अपनी जीभ से चाटकर चूसकर निकालकर में इसको आधा ठंडा कर दूँ जिसकी वजह से मुझे इसको चुदाई के समय संतुष्ट करने में ज्यादा परेशानी ना हो और मैंने यह बात सोचकर चूत को चूसना अपनी जीभ से उसकी चुदाई करना शुरू किया। फिर में अपनी जीभ से उसकी चूत के दाने को सहलाने लगा था और साथ ही अपनी जीभ को चूत के अंदर बाहर करके चुदाई भी करने लगा था जिसकी वजह से मुझे भी मज़ा आने लगा था। फिर कुछ देर बाद वो समय आ ही गया, जिसका मुझे इंतजार था वो झड़ गई। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है। आप इस कहानी को एक हिंदी सेक्स स्टोरीस डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।

दोस्तों उसके झड़ने के बाद वो कुछ हद तक मुझे शांत नजर आ रही थी, थोड़ी देर के बाद दोपहर का खाना खाकर हम दोंनो हमारे असली अगले खेल की तैयारी में लग गए। अब मैंने आगे बढ़कर अपने लंड को उसकी चूत पर मसलना शुरू किया, जिसकी वजह से वो कुछ देर में ही गरम होकर सिसकियाँ लेने लगी थी। अब वो मुझसे कहने लगी कि मेरे राजा आज तुम मेरी बेरहम चूत की ऐसे जमकर चुदाई करना कि यह तुम्हारी दिवानी बन जाए और आज तुम इसकी मस्त चुदाई करके इसकी आग को बुझा दो, इसकी वजह से में बहुत परेशान रहती हूँ। दोस्तों में उसके मुहं से यह सभी बातें सुनकर बहुत जोश में आ गया और उस अग्नि परीक्षा में कामयाब होने की बात मन ही मन सोचने लगा था और फिर मैंने अपने लंड को आदेश दिया कि आज तुझे इस परीक्षा में पास होना है। दोस्तों मेरा लंड अपने मालिक का आदेश सुनकर एक आज्ञाकारी लंड बनकर तुरंत ही बहुत जोश में आ गया और वो अब अपनी मालकिन को ढूंढने लगा था और जैसे ही उसको अपना हमसफर मिला वो उस रास्ते पर उसके साथ ख़ुशी ख़ुशी चल पड़ा। फिर उसने अंदर जाते ही चूत के अंदर धूमधाम करना शुरू कर दिया और अपनी रानी की चूत को ऐसे चोदने लगा कि जैसे आज वो बावला भूत हो गया हो।आप इस कहानी को एक हिंदी सेक्स स्टोरीस डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।


loading...
अब मेरे लंड के तेज झटके खाते हुए वो मज़े मस्ती की वजह से सिसकियाँ भरने लगी और साथ ही कहने लगी ऊफ्फ्फ हाँ मेरे राजा जाने दो पूरा अंदर ऊह्ह्ह वाह मज़ा आ गया। फिर मेरा लंड वो बातें सुनकर पहले से भी ज्यादा और भी जोश में आने लगा था और अब वो अपनी औकात दिखाने लगा। दोस्तों में अपने लंड के उस विकराल रूप को देखकर बहुत आश्चर्य चकित होकर मन ही मन में सोचने लगा कि आज मेरे इस लंड को क्या हो गया है? अब रानी मेरे लंड के झटके खाते हुए अपने को जन्नत में महसूस कर रही थी और वो सिसकियाँ लेते हुए कहती जा रही थी, ऊफ्फ्फ हाँ मेरे राजा आज तुम अपनी इस रानी पर बिल्कुल भी तरस मत खाओ आह्ह्ह हाँ आज तुम इसको जमकर तेज गति के धक्के से चोदकर मुझे स्वर्ग में ले जाओ। में बस तुम्हारी रानी हूँ और अब तुम अपने इस लंड को आदेश देकर बोलो कि यह ऐसे ही मज़े देकर मेरी चुदाई करता रहे और वो बहुत ही सेक्सी आवाज़ें अपने मुहं से निकाल रही थी और मुझसे कह रही थी कि मेरे राजा आज तुम अपनी इस रानी को अपने लंड का दीवाना बना दो ऊफ्फ्फ्फ़ हाँ अब उसका पानी निकलने ही वाला और फिर उसने मुझे नीचे पलटकर लेटने को कहा।

फिर उसी फंसी जकड़ी हुई हालत में हम दोनों एक दूसरे से लिपटे धीरे धीरे पलट गये और अब वो मेरे ऊपर आकर मुझे चुदाई में मज़े देने लगी थी। दोस्तों वो जोश में आकर बड़ी ही ज़ोर ज़ोर से नीचे ऊपर होकर मेरे लंड से अपनी चूत को खुद ही चुदाई करने लगी थी और लगातार ऊपर नीचे होने की वजह से उसके बूब्स ऐसे हिल रहे थे, जैसे किसी घोड़े पर बैठने के बाद हिलते है। दोस्तों वो द्रश्य देखकर मुझे पहले से ज्यादा जोश आ गया और अब वो पहले से भी ज़्यादा भूखी शेरनी की तरह अपने शिकार पर वार कर रही थी। अब मुझे भी उसका वो जोश देखकर नीचे से उसकी चूत की चुदाई करते हुए उस समय एकदम ऐसा महसूस हो रह था कि आज कोई पहली बार मेरे लंड को अपनी चूत से चोदना सिखा रहा है। फिर थोड़ी देर के बाद वो झड़ने लगी और उस समय उसका वो चेहरा देखने लायक था, क्योंकि अब चूत का पानी निकलने की वजह से उसका जोश ठंडा होता चला गया और वो एकदम निढाल होने लगी थी, लेकिन मेरे लंड में अभी भी वीर्य नहीं निकलने की वजह से अभी जोश निकलना बाकी था। फिर मेरे कहने पर वो धीरे धीरे ऊपर नीचे होकर मेरे लंड का वीर्य निकालने की कोशिश करने लगी थी और अब मेरी झड़ने की बारी थी, वो मेरे चेहरे को देखकर मुझे अब निढाल होते हुए देखकर मंद मंद मुस्कुरा रही थी।

अब हम दोनों ठंडे होने लगे थे, क्योंकि हमारी थोड़ी सी प्यास बुझ चुकी थी, लेकिन थोड़ी सी गर्मी अभी भी हमारे जिस्म के अंदर बची हुई थी और इस वजह से हम दोनों एक दूसरे की तरफ देखकर शैतानी हंसी हंस रहे थे। दोस्तों यह था मेरा वो सच्चा सेक्स अनुभव मुझे उम्मीद है कि सभी पढ़ने वालों को इसको पढ़कर बहुत मज़ा आया होगा ।।
धन्यवाद …

loading...
======================================================================= माँ की ममता | Maa Ki Mamta ka fayeda uthaya || Hindi Desi Sex Story || Gandi kahaniya by Mastram Sex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai Kahaniya ,Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Sex Kahani, Desi Chudai Kahani, Free Sexy Adult Story, New Hindi Sex Story,muslim sex,indian sex,pakistani sex,Mastram, antarvasna,Aunty Ki Chudai, Behen Ki Chudai, Bhabhi Ki Chudai, Chut Ki Chudai, Didi Ki Chudai, Hindi Kahani, Hindi Sexy Kahaniya, indian sex stories, Meri Chudai,meri chudai, Risto me chudai, Sex Jodi, आंटी की जमकर चुदाई, इंडियन सेक्सी बीवी, चुदाई की कहानियाँ,देसी, भाई बहन choot , antarvasna , kamukta , Mastram, bare breasts,cheating wife,cheating wives,cum in my mouth,erect nipples,hard nipples,horny wife,hot blowjob,hot wife,jacking off,loud orgasm,sexual frustration,shaved pussy,slut wife,wet pussy,wife giving head,wives caught cheating,anal fucking,anal sex,anal virgin,bad girl,blowjob,cum facial,cum swallowing,cunt,daddy daughter incest story,first time anal,forced sex,fuck,jerk off,jizz,little tits,lolita,orgasm,over the knee punishment,preteen nude,puffy nipples,spanking,sucking cock,teen pussy,teen slut,tight ass,tight pussy,young girls,young pussy,first time lesbian,her first lesbian sex,horny girls,horny lesbians,hot lesbians,hot phone sex,lesbian girls,lesbian orgasm,lesbian orgy,lesbian porn,lesbian sex,lesbian sex stories,lesbian strap on,lesbian threesome,lesbians,lesbians having sex,lesbians making out,naked lesbians,sexy lesbians,teen lesbian,teen lesbians,teen phone fucks,teen sex,threesome,young lesbians,butt,clit,daddy’s little girl,nipples,preteen pussy,schoolgirl,submissive teen,naughty babysitter,older man-younger girl,teen babysitter, ahindisexstories.com has some of the best free indian sex stories online for you. We have something for everyone right from desi stories to hot bhabhi and aunty stories and sexy chats. All Indian Sex Stories - Free Indian Stories Across Categories Such As Desi, Incest, Aunty, Hindi, Sex Chats And Group Sex, Read online new and hot सेक्स कहानियाँ on Nonveg Story : Sex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai KahaniyaSex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai Kahaniya ========================================================================
loading...

Thursday, 25 January 2018

पंजाबन गर्लफ्रेंड की मस्त चुदाई || Punnjaban girlfriend ki mast chudayi || GarmaGaram Kahaniya


प्रेषक : भूपेश …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम भूपेश है और में पंजाब का रहने वाला हूँ। दोस्तों यह बात नवंबर की है, मेरी एक गर्लफ्रेंड है जिसका नाम सोनिया है, उसकी उम्र करीब 22 साल और मेरी उम्र 30 साल थी। दोस्तों यह तब की बात है, जब मैंने सोनिया को अपने घर पर आकर मिलने के लिए कहा था, लेकिन उसने मुझसे मेरे घर में आकर मिलने से साफ मना कर दिया था। फिर उस समय वो मुझसे कहने लगी कि में अपने घर से बाहर नहीं निकल सकती, क्योंकि उसके घर वालो को उसके ऊपर हमारी दोस्ती की बात को लेकर शक हो चुका था, इसलिए उसका कहीं बाहर आना जाना बंद हो चुका था। फिर भी वो मुझसे बहुत प्यार करती थी, इसलिए मेरा कहा मानने के लिए वो बहुत कोशिश करके मुझसे मिलने आ गई और मैंने उस दिन से करीब दो महीने पहले उसको सिर्फ़ एक बार चूमा ही था।

दोस्तों आज का दिन में, लेकिन ऐसे ही नहीं गंवाना चाहता था और उस समय मेरे घर में सब लोग थे इसलिए में उसके साथ वहां पर कुछ कर भी नहीं सकता था। फिर में मन ही मन सोचने लगा कि ऐसा कहाँ जाया जाए जहाँ पर हम लोग को कोई भी परेशान ना करे? और तभी में अपने एक किराएदार के पास चला गया और मैंने जाकर उसको कहा कि प्लीज़ क्या आप थोड़ी देर के लिए कहीं बाहर जा सकते है? वो तुरंत मेरी बात को मान गया और वो बाहर चला गया और अब तो सोने पे सुहागा हो गया। दोस्तों में बहुत खुश था और उसके बाद सोनिया और में उस कमरे के अंदर चुपके से चले गये। हमने किसी को पता भी नहीं लगने दिया कि हम दोनों ऊपर वाले कमरे में है। दोस्तों बस फिर क्या था? मैंने जैसे ही कमरे का दरवाजा बंद किया वो इस बात का ऐतराज़ करने लगी और कहने लगी कि नहीं इसको बंद ना करो कहीं कोई आ ना जाए? मुझे डर लगता है यह सब यहाँ पर करना गलत होगा, लेकिन मैंने उससे कहा कि मेरी जान तुम्हे डरने या किसी भी बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि में तुम्हारे साथ हूँ और अभी इस समय यहाँ पर कोई नहीं आएगा और अगर आ भी गया तो में उसको सम्भाल लूँगा।

फिर मैंने करीब आधे घंटे तक उसके साथ बैठकर इधर उधर की बातें की और उसके साथ बातें करते करते ही मैंने उसका हाथ पकड़कर चूम लिया, लेकिन उसने मेरा कोई भी विरोध नहीं किया। फिर क्या था? दोस्तों मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और में मज़े लेते हुए उसको ज़बरदस्त तरीक़े से लगातार चूमता रहा, मुझे बहुत अच्छा लगा, में उसके साथ मज़े करता ही रहा। फिर उसको मैंने चूमते हुए ही लेटा दिया और फिर हम दोनों एक दूसरे से चिपक गये, मैंने कुछ देर बाद उसके बूब्स को दबाना शुरू किया। अब उसने थोड़ा बहुत मेरा विरोध किया, लेकिन फिर कुछ देर बाद मेरा जोश देखकर उसने मुझसे कुछ भी नहीं कहा और फिर मैंने उसकी चुन्नी को उसकी छाती से हटा दिया। फिर उसके बाद मैंने उसका सूट ऊपर उठाकर उतार दिया, जिसकी वजह से अब वो मेरे सामने ऊपर से आधी नंगी थी, लेकिन बहुत सुंदर कामुक लग रही थी और फिर मैंने बिना देर किए उसकी ब्रा को भी उतार दिया। फिर में उसके बूब्स को चूमता रहा और इतने में उसने अपने हाथ से मेरे तनकर खड़े लंड को अपनी मुठ्ठी में जकड़ लिया और अब में तुरंत समझ गया कि मामला सेट है। अब मैंने बिना कोई देरी किए अपनी शर्ट उसके बाद अपनी पेंट को भी उतार दिया था, में उसके सामने सिर्फ़ अब अंडरवियर में ही था।

फिर मैंने उसकी सलवार को भी उतार दिया और फिर मैंने उसकी पेंटी को भी उतार दिया, जिसके बाद उसने भी मेरी अंडरवियर को खुद ही उतार दिया। अब हम दोनों एक दूसरे के सामने बिल्कुल नंगे थे और मेरे तनकर खड़े मोटे आकार में बड़े लंड को देखकर तो वो घबरा गयी। उसकी आंखे चकित होकर फटी की फटी रह गई, क्योंकि उसने पहले किसी भी जवान मर्द का लंड नहीं देखा था। फिर मैंने तुरंत ही उसकी गोरी उभरी हुई चूत पर हाथ फेरना शुरू कर दिया में कुछ देर लगातार उसकी चूत को अपने हाथ से सहलाते हुए उसको गरम करने लगा था और कुछ देर बाद में अब उसकी चूत में अपनी एक उंगली को डालकर अंदर बहार करके उसकी गीली गरम चूत की गहराईयों को नापने लगा था। अब तक वो पूरी तरह से गरम हो चुकी थी, इसलिए अब उसके मुहं से सिसकियों की आवाज भी आने लगी थी ऊउफ़्फ़्फ़ स्सीईईईई करते हुए वो मेरे लंड को अपनी मुठ्ठी में भरकर अपने हाथ के साथ ऊपर नीचे कर रही थी। फिर में दीवार के सहारे थोड़ा सा झुककर बैठ गया और उसको मैंने कहा कि तुम अब मेरे ऊपर आ जाओ। अब वो तुरंत ही उठकर खड़ी हुई और फिर वो सीधा मेरे ऊपर आकर बैठ गयी और जैसे ही मैंने उसकी चूत को फैलाया उसने एक ज़बरदस्त आह भरी और उसने अब भी मेरा लंड पकड़ा हुआ था।


अब मैंने उसकी चूत को फैलाते हुए, बिना देर किए उसकी चूत में अपना लंड डालना शुरू किया और वो धीरे धीरे मेरे ऊपर बैठती चली गई। फिर जैसे ही मेरा आधा लंड उसकी गीली रसभरी चूत में फिसलता हुआ चला गया, वो उसी समय वैसे ही रुक गई। अब मैंने उसको ज़बरदस्ती नीचे किया जिसकी वजह से थोड़ा और मेरा लंड उसकी चूत में चला गया और दर्द की वजह से वो ज्यादा ज़ोर से चिल्लाने लगी, लेकिन मैंने उसके मुँह पर अपना एक हाथ रख दिया जिसकी वजह से उसकी आवाज अंदर ही दबकर रह गई। दोस्तों उसने बहुत बार उठने की कोशिश की, लेकिन मैंने उसको कसकर दबाकर रखा और वो दर्द की वजह से छटपटाती रही। फिर मैंने उसको अब लेटा दिया और में उसके ऊपर चढ़ गया और उसके बाद मैंने जैसे ही धक्के लगाने शुरू किए उसके तो सारे विकिट ही एक एक करके गिरने लगे। अब वो जोश में आकर सिसकियाँ लेते हुए मुझसे कहने लगी ऊफ्फ्फ हाँ और ज़ोर ज़ोर से आह्ह्ह्ह चोदो मुझे, आज तुम मेरी इस चूत को फाड़ डालो, इसकी खुजली मिटा दो ऊऊईईईईईइ माँ अहह्ह्ह आज तुम मुझे जमकर चोदो, मेरी प्यास को बुझा दो हाँ और ज़ोर से चोदो तुम मुझे आह्ह्ह वाह मुझे अब बहुत मज़ा आ रहा है। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।
दोस्तों वो करीब दस मिनट बाद ऐसे ही बड़बड़ाती हुई झड़ गई, लेकिन में अभी तक आउट नहीं हुआ मैंने और भी ज़ोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए। फिर मैंने नीचे उसकी चूत की तरफ देखा तब मुझे पता चला कि उसकी चूत से अब खून भी निकल रहा था, लेकिन मैंने उसकी कोई परवाह नहीं की और में वैसे ही लगातार धक्के लगाता चला गया। फिर में कुछ देर बाद नीचे ज़मीन पर लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गयी। अब वो मेरे लंड के ऊपर उछल उछलकर अपनी चूत में मेरा पूरा लंड ले रही थी और उसको भी मेरे साथ अपनी चुदाई का वो खेल खेलकर बहुत मज़ा आने लगा था, इसलिए वो मेरा पूरा साथ देते हुए अपनी चूत को मेरे लंड से ठंडा करने की कोशिश करने लगी थी। फिर में भी कुछ देर धक्के देकर झड़ गया और अब हम दोनों आराम से कुछ देर बैठ गये और में अब भी उसकी चूत में अपनी उंगली को अंदर बाहर करता रहा और वो मेरे लंड को सहलाती रही। दोस्तों मेरा लंड कुछ देर के ही एक बार फिर से खड़ा हो गया और वो भी गरम हो चुकी थी, इस बार मैंने उसको अपने सामने घोड़ी बनाया और में उसके पीछे आ गया, उसके बाद मैंने जैसे ही उसकी बोल पर चौका मारा।

दोस्तों मेरा मतलब था कि मैंने उसकी गांड में अपने लंड को डाल दिया, क्योंकि में बहुत दिनों से उसकी गांड को मारने के बारे में सोच रहा था, मुझे वो बहुत पसंद थी। अब वो तो दर्द की वजह से एकदम ज़ोर से चिल्लाने लगी थी और लगातार वो अपने सर को इधर उधर पटक रही थी। फिर मैंने उसका वो दर्द देखकर जल्दी से अपने लंड को बाहर निकाल लिया और वो अब मुझसे कहने लगी कि तुम गांड में मत डालो, मुझे बड़ा तेज दर्द होता है, में मर जाउंगी और उसके अलावा तुम कुछ भी कहीं भी अपना लंड डाल दो, में मना नहीं करूंगी, लेकिन गांड का पीछा छोड़ दो, मैंने वहां कभी कुछ नहीं डलवाया। फिर मैंने तुरंत ही उसकी गांड में अपने लंड को डालने का तरीक़ा सोच लिया, क्योंकि ऐसे तो उसको बहुत तेज दर्द हो रहा था और मुझे आज उसकी गांड भी जरुर मारनी थी। दोस्तों उसके ज्यादा ज़ोर से चिल्लाने की वजह से किसी के आने का डर भी था, इसलिए में उसके साथ ज्यादा ज़ोर जबरदस्ती भी नहीं कर सकता था, क्योंकि पहली बार गांड मरवाने में बड़ा तेज दर्द होता है और वैसे भी उसकी गांड का छेद कुछ ज्यादा ही छोटा था और उसकी छोटी चूत को में पहले ही बहुत बार चोदकर अपने लंड के लिए बड़ी कर चुका था।

अब मैंने वहीं कमरे से सरसों का तेल उठाया और उसकी गांड पर लगाना शुरू किया और वो भी मेरे लंड पर तेल लगा रही थी। अब हम दोनों ने एक दूसरे को बिल्कुल चिकना कर दिया था। फिर मैंने उसको दोबारा घोड़ी बनाया और उसके बाद थोड़ा सा तेल मैंने अपने एक हाथ में लिया और फिर में थोड़ा थोड़ा सा दबाव बनाकर अपने लंड को उसकी गांड के अंदर डालता रहा और ऊपर से तेल की बूंदे भी में गिराता रहा। दोस्तों यह सब करने की वजह से धीरे धीरे उसकी गांड में आधे से ज़्यादा लंड अब अंदर जा चुका था और में थोड़ी देर तक आधे ही लंड से काम चलाता रहा। फिर थोड़ी देर बाद मैंने तेल लिया और उसको लेटाकर उसकी गांड को उसी के हाथों से खुलवाकर उसकी गांड में बहुत सारा तेल लगा दिया। फिर उसको मैंने घोड़ी बनाया और एक ही झटके में अपना पूरा लंड मैंने उसकी गांड में डाल दिया। अब उसने एक बार फिर से चिल्लाने की कोशिश की तब मैंने उसके मुँह पर अपना हाथ रख दिया और फिर उसने कुछ देर बाद दर्द कम होने के बाद हिम्मत करके आगे बढ़कर मेरे लंड को बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन में भी पीछे से उसके और भी ऊपर चढ़ गया और थोड़ी देर तक वो वैसे ही दर्द से छटपटाने लगी और मैंने थोड़ी देर तक उसकी गांड में वैसे ही अपने लंड को रखा।

फिर जब उसका दर्द कम हुआ तो वो मुझे शांत लगी और तब जाकर मैंने उसकी गांड में धक्के लगाने शुरू किए और वो भी दर्द कम होते ही मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी थी। अब में सीधा ज़मीन पर लेट गया और वो मेरे ऊपर आ गई और अपने दोनों पैरों को पूरा फैलाकर वो बैठने लगी, मैंने उसकी गांड का छेद और भी खोल दिया और वो मेरा लंड पकड़कर उसके ऊपर बैठने लगी। दोस्तों उसने इस बार भी एक ही बार में मेरा पूरा लंड अपनी गांड के अंदर ले लिया और मैंने वैसे ही करीब दस मिनट तक उसकी गांड में अपने लंड से धक्के मारे। फिर तब जाकर पहले वो भी और उसके बाद में भी झड़ गया और अब हम दोनों एक दूसरे से चिपककर थोड़ी देर वैसे ही लेटे रहे और एक दूसरे को चूमते प्यार करते रहे। फिर उसके बाद हम दोनों ने अपने अपने कपड़े पहन लिए और अब मैंने उसके चेहरे की तरफ देखा जो अब पहले से ज्यादा खुश होकर उस चुदाई की वजह से खिल गया था। दोस्तों यह था मेरा अपनी गर्लफ्रेंड के साथ उसकी मस्त मज़ेदार चुदाई का सफर मुझे उम्मीद है कि सभी को इसको पढ़कर मज़ा जरुर आएगा ।।
धन्यवाद …
======================================================================= माँ की ममता | Maa Ki Mamta ka fayeda uthaya || Hindi Desi Sex Story || Gandi kahaniya by Mastram Sex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai Kahaniya ,Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Sex Kahani, Desi Chudai Kahani, Free Sexy Adult Story, New Hindi Sex Story,muslim sex,indian sex,pakistani sex,Mastram, antarvasna,Aunty Ki Chudai, Behen Ki Chudai, Bhabhi Ki Chudai, Chut Ki Chudai, Didi Ki Chudai, Hindi Kahani, Hindi Sexy Kahaniya, indian sex stories, Meri Chudai,meri chudai, Risto me chudai, Sex Jodi, आंटी की जमकर चुदाई, इंडियन सेक्सी बीवी, चुदाई की कहानियाँ,देसी, भाई बहन choot , antarvasna , kamukta , Mastram, bare breasts,cheating wife,cheating wives,cum in my mouth,erect nipples,hard nipples,horny wife,hot blowjob,hot wife,jacking off,loud orgasm,sexual frustration,shaved pussy,slut wife,wet pussy,wife giving head,wives caught cheating,anal fucking,anal sex,anal virgin,bad girl,blowjob,cum facial,cum swallowing,cunt,daddy daughter incest story,first time anal,forced sex,fuck,jerk off,jizz,little tits,lolita,orgasm,over the knee punishment,preteen nude,puffy nipples,spanking,sucking cock,teen pussy,teen slut,tight ass,tight pussy,young girls,young pussy,first time lesbian,her first lesbian sex,horny girls,horny lesbians,hot lesbians,hot phone sex,lesbian girls,lesbian orgasm,lesbian orgy,lesbian porn,lesbian sex,lesbian sex stories,lesbian strap on,lesbian threesome,lesbians,lesbians having sex,lesbians making out,naked lesbians,sexy lesbians,teen lesbian,teen lesbians,teen phone fucks,teen sex,threesome,young lesbians,butt,clit,daddy’s little girl,nipples,preteen pussy,schoolgirl,submissive teen,naughty babysitter,older man-younger girl,teen babysitter, ahindisexstories.com has some of the best free indian sex stories online for you. We have something for everyone right from desi stories to hot bhabhi and aunty stories and sexy chats. All Indian Sex Stories - Free Indian Stories Across Categories Such As Desi, Incest, Aunty, Hindi, Sex Chats And Group Sex, Read online new and hot सेक्स कहानियाँ on Nonveg Story : Sex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai KahaniyaSex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai Kahaniya ========================================================================
loading...

loading...

loading...

loading...

Sunday, 12 November 2017

Dost Ki Girlfriend Ne Mera Lund Pakad Liya fir Chut Chudai - Gandi Khaniya - Hindi Sex Story

हैलो दोस्तो, आज मैं आपको अपनी और अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ।

मैं समीर हूँ.. यह नाम बदला हुआ है। मेरा कद साढ़े पांच फुट का है और मेरे लंड का साइज़ भी मस्त है। मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि ये किस्सा आपको पसंद आएगा। ये कहानी बिलकुल रियल है.. बस नाम और जगह बदली गई है।
ये बात आज से दो साल पहले की है, उस टाइम ‘हेट स्टोरी-2’ लगी थी। मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड वो फिल्म देखने के लिए बोल रही थी। चूँकि वो मुझसे भी बात करती थी, तो उसने मुझसे भी बोला- समीर, मुझे ये फिल्म दिखा दो।
मैं उसकी बात सुनकर तैयार हो गया। उसे फिल्म दिखाने की एक वजह ये भी थी कि मैं भी उससे प्यार करने लगा था। ये बात मैंने उसको बोला भी था.. मगर उसने बोला कि हम सिर्फ दोस्त हैं। इसलिए मैं आगे नहीं बढ़ पाया।
सॉरी दोस्तो, मैं उसका नाम बताना भूल गया.. उसका नाम जूली खान (नाम बदला हुआ) है।
मैं और जूली फिल्म देखने गए। मैंने लखनऊ के एक हॉल में बालकनी की टिकट ली और हम दोनों फिल्म देखने हॉल में पहुँच गए। फिल्म स्टार्ट हुई और कुछ देर में उसमें वो गाना आ गया ‘आज फिर तुम पर प्यार आया है..’
वो गाना इतना गरमागरम है कि देख कर ही जूली को कुछ होने लगा। मैं समझ गया कि इसको चुदास चढ़ गई है।
क्योंकि वो पहले से चुदी हुई थी.. मेरे दोस्त ने भी उसको बहुत चोदा था, जो मुझे भी मालूम था। वो जब उसकी चुदाई करता तो हम दोस्तों से सब बताता था, जिसको सुन कर मैं भी गर्म हो जाता था।
मेरी नज़र पहले से ही जूली पर ख़राब थी। उसकी मटकती हुई गांड कोई बूढ़ा भी देख ले, तो उसका लंड भी पानी छोड़ दे। उसके 38 साइज के चुचे क्या मस्त लगते थे, सच में मुठ मारने का मन करने लगता था।
आज वो मेरे साथ मेरे बगल में बैठी थी। मैं उसको तिरछी नज़रों से देख रहा था। वो कभी अपने होंठ काटती तो कभी अपने ही हाथ से अपनी चूची मसलती, मैं भी उसको देखा कर बहुत ज़्यादा गर्म हो गया था, मगर मैं खुद कर कण्ट्रोल करे हुए था। मैं चाहता था कि पहल वो करे।
फिर कुछ देर में वो पल भी आ गया, जिसका मुझे इंतज़ार था। जूली का हाथ धीरे से मेरे लंड को छूने लगा। मेरा लंड पहले ही खड़ा था, उसके छूने से और ज़्यादा खड़ा हो गया।
इस बात का उसको भी एहसास हो गया। फिर उसने धीरे से मेरे लंड को मुठ्ठी में ले लिया और सहलाने लगी।
अब मुझसे भी रहा नहीं गया तो मैं बोला- जूली ये क्या कर रही हो?
जूली- क्या करूँ समीर.. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा.. मुझे नीचे कुछ हो रहा है।
मैं- मगर ये सब ठीक नहीं है यार.. मैं अपने दोस्त को क्या मुँह दिखाऊंगा?
जूली- मैं कुछ नहीं जानती.. अभी मेरे साथ कुछ करो!
मैं- मगर मैं ये कैसे कर सकता हूँ?
जूली- अगर तुमने अभी कुछ नहीं किया, तो मैं हॉल में किसी के भी पास चली जाऊँगी.. फिर दिखाना अपने दोस्त को मुँह..!
मैं उसको ये एहसास नहीं दिलाना चाह रहा था कि मैं उसको चोदने के लिए मरा जा रहा हूँ। दरअसल मैं उसको और तड़पाना चाह रहा था।
फिर उसने जबरदस्ती मेरे होंठों से अपने होंठ मिला दिए और चूसने लगी। कुछ ही देर में मैं भी उसका साथ देने लगा।
अब वो मस्ती से मेरे होंठ चूम रही थी और मैं उसकी दोनों चूचियों को दबा रहा था। लगभग दस मिनट होंठ चूमने के बाद उसने मुझे खुद से अलग किया और अपना जम्पर ऊपर करके चूची बाहर निकाली। मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही चूची दबाने लगा। फिर ब्रा भी ऊपर कर दी और नंगी चूची को हाथ में लेकर दबाने और चूसने लगा।
वो और ज़्यादा गर्म हो गई, उसने पूरी ब्रा खोल कर कुरते से खींच कर निकाल दी और मेरे मुंह में अपने हाथ चूची पकड़ कर घुसा दी। उसकी 38 साइज की चूची में मेरा मुँह दब गया। मेरा अब सांस लेना भी मुश्किल हो गया था। मैंने किसी तरह अपना मुंह हटाया तो उसने झट से अपनी लैग्गी नीचे को सरका दी और सीट के नीचे बैठ कर मेरी पैंट खोलने लगी। ये तो अच्छा हुआ हॉल में ज़्यादा लोग नहीं थे, वरना सबको फ्री में लाइव ब्लू-फिल्म देखने को मिल जाती।
मेरी पैंट खोल कर उसने मेरे लंड बाहर निकाल लिया। कुछ देर लंड को सहलाने के बाद उसने अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी। उसका लंड चूसने का अंदाज़ बता रहा था कि वो लंड चूसने में माहिर है।
अब मेरी हालत बहुत ज़्यादा ख़राब होने लगी थी.. मेरे मुंह से सिसकारी निकलने लगी थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’
मैं जाने क्या-क्या बड़बड़ा रहा था मगर वो लंड छोड़ने का नाम नहीं ले रही थी।हैलो दोस्तो, आज मैं आपको अपनी और अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ।
मैं समीर हूँ.. यह नाम बदला हुआ है। मेरा कद साढ़े पांच फुट का है और मेरे लंड का साइज़ भी मस्त है। मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि ये किस्सा आपको पसंद आएगा। ये कहानी बिलकुल रियल है.. बस नाम और जगह बदली गई है।
ये बात आज से दो साल पहले की है, उस टाइम ‘हेट स्टोरी-2’ लगी थी। मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड वो फिल्म देखने के लिए बोल रही थी। चूँकि वो मुझसे भी बात करती थी, तो उसने मुझसे भी बोला- समीर, मुझे ये फिल्म दिखा दो।
मैं उसकी बात सुनकर तैयार हो गया। उसे फिल्म दिखाने की एक वजह ये भी थी कि मैं भी उससे प्यार करने लगा था। ये बात मैंने उसको बोला भी था.. मगर उसने बोला कि हम सिर्फ दोस्त हैं। इसलिए मैं आगे नहीं बढ़ पाया।
सॉरी दोस्तो, मैं उसका नाम बताना भूल गया.. उसका नाम जूली खान (नाम बदला हुआ) है।
मैं और जूली फिल्म देखने गए। मैंने लखनऊ के एक हॉल में बालकनी की टिकट ली और हम दोनों फिल्म देखने हॉल में पहुँच गए। फिल्म स्टार्ट हुई और कुछ देर में उसमें वो गाना आ गया ‘आज फिर तुम पर प्यार आया है..’
वो गाना इतना गरमागरम है कि देख कर ही जूली को कुछ होने लगा। मैं समझ गया कि इसको चुदास चढ़ गई है।
क्योंकि वो पहले से चुदी हुई थी.. मेरे दोस्त ने भी उसको बहुत चोदा था, जो मुझे भी मालूम था। वो जब उसकी चुदाई करता तो हम दोस्तों से सब बताता था, जिसको सुन कर मैं भी गर्म हो जाता था।
मेरी नज़र पहले से ही जूली पर ख़राब थी। उसकी मटकती हुई गांड कोई बूढ़ा भी देख ले, तो उसका लंड भी पानी छोड़ दे। उसके 38 साइज के चुचे क्या मस्त लगते थे, सच में मुठ मारने का मन करने लगता था।
आज वो मेरे साथ मेरे बगल में बैठी थी। मैं उसको तिरछी नज़रों से देख रहा था। वो कभी अपने होंठ काटती तो कभी अपने ही हाथ से अपनी चूची मसलती, मैं भी उसको देखा कर बहुत ज़्यादा गर्म हो गया था, मगर मैं खुद कर कण्ट्रोल करे हुए था। मैं चाहता था कि पहल वो करे।
फिर कुछ देर में वो पल भी आ गया, जिसका मुझे इंतज़ार था। जूली का हाथ धीरे से मेरे लंड को छूने लगा। मेरा लंड पहले ही खड़ा था, उसके छूने से और ज़्यादा खड़ा हो गया।
इस बात का उसको भी एहसास हो गया। फिर उसने धीरे से मेरे लंड को मुठ्ठी में ले लिया और सहलाने लगी।
अब मुझसे भी रहा नहीं गया तो मैं बोला- जूली ये क्या कर रही हो?
जूली- क्या करूँ समीर.. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा.. मुझे नीचे कुछ हो रहा है।
मैं- मगर ये सब ठीक नहीं है यार.. मैं अपने दोस्त को क्या मुँह दिखाऊंगा?
जूली- मैं कुछ नहीं जानती.. अभी मेरे साथ कुछ करो!
मैं- मगर मैं ये कैसे कर सकता हूँ?
जूली- अगर तुमने अभी कुछ नहीं किया, तो मैं हॉल में किसी के भी पास चली जाऊँगी.. फिर दिखाना अपने दोस्त को मुँह..!
मैं उसको ये एहसास नहीं दिलाना चाह रहा था कि मैं उसको चोदने के लिए मरा जा रहा हूँ। दरअसल मैं उसको और तड़पाना चाह रहा था।
<फिर उसने जबरदस्ती मेरे होंठों से अपने होंठ मिला दिए और चूसने लगी। कुछ ही देर में मैं भी उसका साथ देने लगा।
अब वो मस्ती से मेरे होंठ चूम रही थी और मैं उसकी दोनों चूचियों को दबा रहा था। लगभग दस मिनट होंठ चूमने के बाद उसने मुझे खुद से अलग किया और अपना जम्पर ऊपर करके चूची बाहर निकाली। मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही चूची दबाने लगा। फिर ब्रा भी ऊपर कर दी और नंगी चूची को हाथ में लेकर दबाने और चूसने लगा।
वो और ज़्यादा गर्म हो गई, उसने पूरी ब्रा खोल कर कुरते से खींच कर निकाल दी और मेरे मुंह में अपने हाथ चूची पकड़ कर घुसा दी। उसकी 38 साइज की चूची में मेरा मुँह दब गया। मेरा अब सांस लेना भी मुश्किल हो गया था। मैंने किसी तरह अपना मुंह हटाया तो उसने झट से अपनी लैग्गी नीचे को सरका दी और सीट के नीचे बैठ कर मेरी पैंट खोलने लगी। ये तो अच्छा हुआ हॉल में ज़्यादा लोग नहीं थे, वरना सबको फ्री में लाइव ब्लू-फिल्म देखने को मिल जाती।
मेरी पैंट खोल कर उसने मेरे लंड बाहर निकाल लिया। कुछ देर लंड को सहलाने के बाद उसने अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी। उसका लंड चूसने का अंदाज़ बता रहा था कि वो लंड चूसने में माहिर है।
अब मेरी हालत बहुत ज़्यादा ख़राब होने लगी थी.. मेरे मुंह से सिसकारी निकलने लगी थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’
मैं जाने क्या-क्या बड़बड़ा रहा था मगर वो लंड छोड़ने का नाम नहीं ले रही थी।हैलो दोस्तो, आज मैं आपको अपनी और अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ।
मैं समीर हूँ.. यह नाम बदला हुआ है। मेरा कद साढ़े पांच फुट का है और मेरे लंड का साइज़ भी मस्त है। मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि ये किस्सा आपको पसंद आएगा। ये कहानी बिलकुल रियल है.. बस नाम और जगह बदली गई है।
ये बात आज से दो साल पहले की है, उस टाइम ‘हेट स्टोरी-2’ लगी थी। मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड वो फिल्म देखने के लिए बोल रही थी। चूँकि वो मुझसे भी बात करती थी, तो उसने मुझसे भी बोला- समीर, मुझे ये फिल्म दिखा दो।
मैं उसकी बात सुनकर तैयार हो गया। उसे फिल्म दिखाने की एक वजह ये भी थी कि मैं भी उससे प्यार करने लगा था। ये बात मैंने उसको बोला भी था.. मगर उसने बोला कि हम सिर्फ दोस्त हैं। इसलिए मैं आगे नहीं बढ़ पाया।
सॉरी दोस्तो, मैं उसका नाम बताना भूल गया.. उसका नाम जूली खान (नाम बदला हुआ) है।
मैं और जूली फिल्म देखने गए। मैंने लखनऊ के एक हॉल में बालकनी की टिकट ली और हम दोनों फिल्म देखने हॉल में पहुँच गए। फिल्म स्टार्ट हुई और कुछ देर में उसमें वो गाना आ गया ‘आज फिर तुम पर प्यार आया है..’
वो गाना इतना गरमागरम है कि देख कर ही जूली को कुछ होने लगा। मैं समझ गया कि इसको चुदास चढ़ गई है।
क्योंकि वो पहले से चुदी हुई थी.. मेरे दोस्त ने भी उसको बहुत चोदा था, जो मुझे भी मालूम था। वो जब उसकी चुदाई करता तो हम दोस्तों से सब बताता था, जिसको सुन कर मैं भी गर्म हो जाता था।
मेरी नज़र पहले से ही जूली पर ख़राब थी। उसकी मटकती हुई गांड कोई बूढ़ा भी देख ले, तो उसका लंड भी पानी छोड़ दे। उसके 38 साइज के चुचे क्या मस्त लगते थे, सच में मुठ मारने का मन करने लगता था।
आज वो मेरे साथ मेरे बगल में बैठी थी। मैं उसको तिरछी नज़रों से देख रहा था। वो कभी अपने होंठ काटती तो कभी अपने ही हाथ से अपनी चूची मसलती, मैं भी उसको देखा कर बहुत ज़्यादा गर्म हो गया था, मगर मैं खुद कर कण्ट्रोल करे हुए था। मैं चाहता था कि पहल वो करे।

फिर कुछ देर में वो पल भी आ गया, जिसका मुझे इंतज़ार था। जूली का हाथ धीरे से मेरे लंड को छूने लगा। मेरा लंड पहले ही खड़ा था, उसके छूने से और ज़्यादा खड़ा हो गया।
इस बात का उसको भी एहसास हो गया। फिर उसने धीरे से मेरे लंड को मुठ्ठी में ले लिया और सहलाने लगी।
अब मुझसे भी रहा नहीं गया तो मैं बोला- जूली ये क्या कर रही हो?
जूली- क्या करूँ समीर.. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा.. मुझे नीचे कुछ हो रहा है।
मैं- मगर ये सब ठीक नहीं है यार.. मैं अपने दोस्त को क्या मुँह दिखाऊंगा?
जूली- मैं कुछ नहीं जानती.. अभी मेरे साथ कुछ करो!
मैं- मगर मैं ये कैसे कर सकता हूँ?
जूली- अगर तुमने अभी कुछ नहीं किया, तो मैं हॉल में किसी के भी पास चली जाऊँगी.. फिर दिखाना अपने दोस्त को मुँह..!
मैं उसको ये एहसास नहीं दिलाना चाह रहा था कि मैं उसको चोदने के लिए मरा जा रहा हूँ। दरअसल मैं उसको और तड़पाना चाह रहा था।
फिर उसने जबरदस्ती मेरे होंठों से अपने होंठ मिला दिए और चूसने लगी। कुछ ही देर में मैं भी उसका साथ देने लगा।
अब वो मस्ती से मेरे होंठ चूम रही थी और मैं उसकी दोनों चूचियों को दबा रहा था। लगभग दस मिनट होंठ चूमने के बाद उसने मुझे खुद से अलग किया और अपना जम्पर ऊपर करके चूची बाहर निकाली। मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही चूची दबाने लगा। फिर ब्रा भी ऊपर कर दी और नंगी चूची को हाथ में लेकर दबाने और चूसने लगा।
वो और ज़्यादा गर्म हो गई, उसने पूरी ब्रा खोल कर कुरते से खींच कर निकाल दी और मेरे मुंह में अपने हाथ चूची पकड़ कर घुसा दी। उसकी 38 साइज की चूची में मेरा मुँह दब गया। मेरा अब सांस लेना भी मुश्किल हो गया था। मैंने किसी तरह अपना मुंह हटाया तो उसने झट से अपनी लैग्गी नीचे को सरका दी और सीट के नीचे बैठ कर मेरी पैंट खोलने लगी। ये तो अच्छा हुआ हॉल में ज़्यादा लोग नहीं थे, वरना सबको फ्री में लाइव ब्लू-फिल्म देखने को मिल जाती।
मेरी पैंट खोल कर उसने मेरे लंड बाहर निकाल लिया। कुछ देर लंड को सहलाने के बाद उसने अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी। उसका लंड चूसने का अंदाज़ बता रहा था कि वो लंड चूसने में माहिर है।
अब मेरी हालत बहुत ज़्यादा ख़राब होने लगी थी.. मेरे मुंह से सिसकारी निकलने लगी थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’
मैं जाने क्या-क्या बड़बड़ा रहा था मगर वो लंड छोड़ने का नाम नहीं ले रही थी।
हैलो दोस्तो, आज मैं आपको अपनी और अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी सुनाने जा रहा हूँ।
मैं समीर हूँ.. यह नाम बदला हुआ है। मेरा कद साढ़े पांच फुट का है और मेरे लंड का साइज़ भी मस्त है। मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ। मैं उम्मीद करता हूँ कि ये किस्सा आपको पसंद आएगा। ये कहानी बिलकुल रियल है.. बस नाम और जगह बदली गई है।

ये बात आज से दो साल पहले की है, उस टाइम ‘हेट स्टोरी-2’ लगी थी। मेरे दोस्त की गर्लफ्रेंड वो फिल्म देखने के लिए बोल रही थी। चूँकि वो मुझसे भी बात करती थी, तो उसने मुझसे भी बोला- समीर, मुझे ये फिल्म दिखा दो।
मैं उसकी बात सुनकर तैयार हो गया। उसे फिल्म दिखाने की एक वजह ये भी थी कि मैं भी उससे प्यार करने लगा था। ये बात मैंने उसको बोला भी था.. मगर उसने बोला कि हम सिर्फ दोस्त हैं। इसलिए मैं आगे नहीं बढ़ पाया।
सॉरी दोस्तो, मैं उसका नाम बताना भूल गया.. उसका नाम जूली खान (नाम बदला हुआ) है।
मैं और जूली फिल्म देखने गए। मैंने लखनऊ के एक हॉल में बालकनी की टिकट ली और हम दोनों फिल्म देखने हॉल में पहुँच गए। फिल्म स्टार्ट हुई और कुछ देर में उसमें वो गाना आ गया ‘आज फिर तुम पर प्यार आया है..’
वो गाना इतना गरमागरम है कि देख कर ही जूली को कुछ होने लगा। मैं समझ गया कि इसको चुदास चढ़ गई है।
क्योंकि वो पहले से चुदी हुई थी.. मेरे दोस्त ने भी उसको बहुत चोदा था, जो मुझे भी मालूम था। वो जब उसकी चुदाई करता तो हम दोस्तों से सब बताता था, जिसको सुन कर मैं भी गर्म हो जाता था।
मेरी नज़र पहले से ही जूली पर ख़राब थी। उसकी मटकती हुई गांड कोई बूढ़ा भी देख ले, तो उसका लंड भी पानी छोड़ दे। उसके 38 साइज के चुचे क्या मस्त लगते थे, सच में मुठ मारने का मन करने लगता था।
आज वो मेरे साथ मेरे बगल में बैठी थी। मैं उसको तिरछी नज़रों से देख रहा था। वो कभी अपने होंठ काटती तो कभी अपने ही हाथ से अपनी चूची मसलती, मैं भी उसको देखा कर बहुत ज़्यादा गर्म हो गया था, मगर मैं खुद कर कण्ट्रोल करे हुए था। मैं चाहता था कि पहल वो करे।
फिर कुछ देर में वो पल भी आ गया, जिसका मुझे इंतज़ार था। जूली का हाथ धीरे से मेरे लंड को छूने लगा। मेरा लंड पहले ही खड़ा था, उसके छूने से और ज़्यादा खड़ा हो गया।
इस बात का उसको भी एहसास हो गया। फिर उसने धीरे से मेरे लंड को मुठ्ठी में ले लिया और सहलाने लगी।
अब मुझसे भी रहा नहीं गया तो मैं बोला- जूली ये क्या कर रही हो?
जूली- क्या करूँ समीर.. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा.. मुझे नीचे कुछ हो रहा है।
मैं- मगर ये सब ठीक नहीं है यार.. मैं अपने दोस्त को क्या मुँह दिखाऊंगा?
जूली- मैं कुछ नहीं जानती.. अभी मेरे साथ कुछ करो!
मैं- मगर मैं ये कैसे कर सकता हूँ?
जूली- अगर तुमने अभी कुछ नहीं किया, तो मैं हॉल में किसी के भी पास चली जाऊँगी.. फिर दिखाना अपने दोस्त को मुँह..!
मैं उसको ये एहसास नहीं दिलाना चाह रहा था कि मैं उसको चोदने के लिए मरा जा रहा हूँ। दरअसल मैं उसको और तड़पाना चाह रहा था।
फिर उसने जबरदस्ती मेरे होंठों से अपने होंठ मिला दिए और चूसने लगी। कुछ ही देर में मैं भी उसका साथ देने लगा।
अब वो मस्ती से मेरे होंठ चूम रही थी और मैं उसकी दोनों चूचियों को दबा रहा था। लगभग दस मिनट होंठ चूमने के बाद उसने मुझे खुद से अलग किया और अपना जम्पर ऊपर करके चूची बाहर निकाली। मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही चूची दबाने लगा। फिर ब्रा भी ऊपर कर दी और नंगी चूची को हाथ में लेकर दबाने और चूसने लगा।
वो और ज़्यादा गर्म हो गई, उसने पूरी ब्रा खोल कर कुरते से खींच कर निकाल दी और मेरे मुंह में अपने हाथ चूची पकड़ कर घुसा दी। उसकी 38 साइज की चूची में मेरा मुँह दब गया। मेरा अब सांस लेना भी मुश्किल हो गया था। मैंने किसी तरह अपना मुंह हटाया तो उसने झट से अपनी लैग्गी नीचे को सरका दी और सीट के नीचे बैठ कर मेरी पैंट खोलने लगी। ये तो अच्छा हुआ हॉल में ज़्यादा लोग नहीं थे, वरना सबको फ्री में लाइव ब्लू-फिल्म देखने को मिल जाती।
मेरी पैंट खोल कर उसने मेरे लंड बाहर निकाल लिया। कुछ देर लंड को सहलाने के बाद उसने अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी। उसका लंड चूसने का अंदाज़ बता रहा था कि वो लंड चूसने में माहिर है।
अब मेरी हालत बहुत ज़्यादा ख़राब होने लगी थी.. मेरे मुंह से सिसकारी निकलने लगी थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’
मैं जाने क्या-क्या बड़बड़ा रहा था मगर वो लंड छोड़ने का नाम नहीं ले रही थी।
loading...

loading...

loading...

loading...

Tuesday, 7 November 2017

देसी गर्लफ्रेंड के साथ हॉट सेक्स -Hindi Sex Stories

Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Sex Kahani, Desi Chudai Kahani, Free Sexy Adult Story, New Hindi Sex Story,muslim sex,indian sex,pakistani sex , Mastram , gandikhaniya.com , Gandi Khaniya ,  ahindisexstories.com

हैलो हॉट बाय्स और गरम सेक्सी गर्ल्स.. मेरा नाम विक्की है और मुझे हिंदी में हॉट सेक्स कहानियां और चुटकुले पढ़ना पसंद हैं. मैं लखनऊ में रहकर पढ़ाई करता हूँ.

बात उस समय की है जब मैं 18 साल का था और अपने घर में रहता था.
मेरे घर के पास में ही एक देसी सी लड़की रहती थी, जिसका नाम ममता था. ममता का फिगर स्लिम है और वो बहुत गोरी लड़की है. मैं और ममता एक-दूसरे को पसंद करते थे और मैं कभी-कभी उसको अपने घर बुलाकर उससे बातें करता था. हम दोनों एक ही उम्र के थे और कभी-कभी हम किस भी कर लिया करते थे. लेकिन परिस्थितियों के चलते हमारा चुदाई का कार्यक्रम कभी नहीं बन पाया.

अब मैं जब पढ़ाई करने लखनऊ आ गया तो मैं यहाँ अलग रूम लेकर रहता था. वो भी लखनऊ के एक कॉल सेंटर में जॉब करने लगी.
मैंने ममता से उसका नंबर ले लिया और फिर हम दोनों के बीच मैसेज और मोबाइल पे बातों का दौर स्टार्ट हुआ.

एक दिन बात करते-करते मैंने उसको थोड़ा सा सेक्सी मैसेज सेंड कर दिया. पहले तो वो थोड़ा नाराज़ हुई लेकिन बाद में वो भी सेक्सी मैसेज में चैट करने लगी.

एक दिन मैं उससे मोबाइल पर बात कर रहा था तभी मैंने उससे कहा- मैं तुमसे मिलना चाहता हूँ.
वो बोली- मिल कर क्या करना है? मैं तुमसे डेली बात तो करती हूँ ना!

loading...
फिर एक दिन मैंने उससे हॉट चैट करना स्टार्ट किया और बाद में चुदाई की बातें की. अब वो हॉट हो गई.. और उसने मुझे चुत में आग लगने की बात कही.
फिर मैंने उसको फिंगरिंग करना बताया. उस दिन वो लाइफ में पहली बार अपनी चुत में उंगली करके झड़ी. उसने मुझे बताया कि उसकी चुत से खूब सारा सफेद पानी निकला.
कुछ दिन बाद उसने मुझसे चुदवाने का मन बनाया. चूंकि हम दोनों एक-दूसरे को पसंद करते थे इसलिए उसको कोई दिक्कत नहीं थी. मैंने उसको अपने रूम पर बुलाकर चोदना चाहा, वो राज़ी हो गई.

अगले दिन वो कॉल सेंटर ना जाकर मेरे रूम पर आ गई. मैंने उसका वेलकम किया और उसे बांहों में भरते हुए उसके गालों पे एक किस कर ली. वो मेरे रूम पर चूड़ीदार सलवार और कुर्ता पहनकर आई थी, जिसमें उसके चूचे और मस्त गांड उभर आई थी. वो बहुत मस्त लग रही थी.
वो बहुत हॉट और एग्ज़ाइटेड थी फिर भी नखरे दिखाते हुए बोली- ये क्या कर रहे हो?
मैंने कहा- मैं तुमसे प्यार करता हूँ.. आई लव यू!
तो उसने भी हामी भरते हुए मुझे उत्तर दिया.

फिर क्या था.. मैंने तुरंत ही उसे अपनी बांहों में भर लिया और पागलों की तरह किस करने लगा. मेरा लंड पूरा खड़ा था. जब मैं किस करने लगा तो पहले तो उसने कोई रेस्पॉन्स नहीं दिया लेकिन थोड़ी देर के बाद वो भी मेरा साथ देने लगी.
उसे किस करते-करते कब मेरे हाथ उसके मम्मों पे पहुँच गए, मुझे पता ही नहीं चला. थोड़ी देर बाद वो बहुत एग्ज़ाइटेड हो गई थी, तब मैंने उसका कुर्ता उतार दिया और उसको किस करने लगा. साथ में मैं उसको कमर के ऊपर सहला रहा था, उसकी साँसें तेज़ हो रही थीं. वो मेरा नाम लेते हुए चुदास से सिसक रही थी और मुझसे पूरा चिपक गई थी.

अब मुझसे रहा नहीं गया, मैंने उसकी ब्रा उतार दी और उसके मम्मों को चूसने लगा. उसके चूचे एकदम तने हुए थे और मैं उन्हें चूस रहा था.
ममता ने मेरा लोवर उतार दिया और मेरा लंड सहलाने लगी. मुझे उसका लंड छूना बहुत अच्छा लगा. फिर वो ‘आअहह ऊऊहह..’ की आवाज़ करने लगी.
हम दोनों वासना की आग में जलने लगे. फिर किस करते-करते मैंने अपना एक हाथ उसकी सलवार के ऊपर से ही उसकी चुत पर रख दिया.

क्या बताऊं दोस्तो कि उसकी चुत कितनी ज़्यादा गर्म थी. कुछ देर तक मैं ऐसे ही चुत सहलाता रहा. फिर मैंने उसको अपनी गोद में उठाया और बेड पर लिटा दिया.
अब मैंने उसकी सलवार निकाल दी और खुद भी पूरा नंगा हो गया. मैं उसकी गीली पेंटी के ऊपर से ही चुत को सहलाने लगा. चुदास का माहौल बन गया था. मैं उसको कान पर, गले पर, होंठों पर.. लगातार चुम्बनों की बौछार किए जा रहा था. फिर मैं उसको उल्टा करके उसकी बैक पर किस करने लगा और उसे चाटने लगा. हम दोनों को बहुत मज़ा आ रहा था.
फिर मुझसे रहा नहीं गया, तब मैंने उसकी लाल धारीदार पेंटी को उतार दिया. उसकी छोटी सी चुत को देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया. मैं 69 पोज़िशन में होकर उसकी चुत चूसने लगा और साथ-साथ उसकी गोरी जांघें और कमर के आस-पास भी बहुत चूसने-चाटने लगा.


loading...
मैं चूसते हुए उसकी बहुत टाइट चुत में उंगली भी कर रहा था, जो उसको बहुत पसंद आया. अब वो और तेज़ी से मोन करने लगी. कुछ ही पलों में तो वो जैसे झड़ने ही वाली हो उठी थी. दो मिनट बाद वो झड़ गई. मैं उसकी चुत का सारा पानी पी गया, जो मुझे बहुत अच्छा लगा.
वो भी उत्तेजना में मेरा लंड चूसने लगी और थोड़ी देर बाद में भी झड़ने लगा. उसने भी मेरा पूरा पानी पी लिया. अब वो भी हांफ रही थी और मुझसे चिपकी हुई थी.

मैंने उसकी आँखों में चुदाई की भूख देखी और मैं 69 से उठ कर उसके पास लेटकर उसको प्यार करने लगा. हम दोनों फिर एक बार गर्म हो गए और उसने मुझे जल्दी से चोद देने को कहा.
उसके दोनों पैर मैंने फैला दिए, उसकी चिकनी गुलाबी हॉट चुत मेरे लंड के सामने थी और मेरा लंड अन्दर जाने को तैयार था. मैं उसकी चिकनी चुत पर लंड सहलाने लगा और वो तड़पने लगी.

loading...

मैंने उसकी गीली चूत पर लंड रखकर दबाया तो वो उछल पड़ी और थोड़ा डर भी गई. उसने मुझे अपने ऊपर से हटा दिया और मैंने भी चुदाई कुछ देर के लिए रोक दी.
फिर मैंने उसको एक छोटी सी हॉट सेक्स मूवी दिखाई, जिसमें नई चुत की सील टूटने के बाद चुत को मिलने वाले मजे का नजारा था.

अब वो समझ गई और मुझसे चुदवाने के लिए अपनी टांगें फैला दीं. मैंने फिर धीरे से उसकी चुत में लंड डाला, उसको बहुत दर्द हुआ और मैं उसके दर्द को कम करने के लिए उसको किस करने लगा और चुचियों को चूसने लगा. थोड़ी देर बाद वो रिलेक्स हुई और अपनी गांड हिलाने लगी. मैं भी तैयार था, मैं झटके मारने लगा और साथ में वो भी उछलने लगी. उसकी गीली चुत छपचप की आवाज़ कर रही थी जो कि मेरा जोश बढ़ा रही थी. फिर मैं उसको बहुत तेज़ रफ्तार से चोदने लगा और वो भी चुदवाने लगी.

हम दोनों बहुत गरम थे. धीरे-धीरे उसका बदन अकड़ने लगा.. उसने अपने नाख़ून मुझमें गड़ा दिए और वो झड़ गई.
अब मेरा लंड उसकी चुत में बहुत आसानी से जा रहा था. थोड़ी देर बाद मैं भी झड़ गया और अपना माल उसकी चुत में डाल दिया. पूरी चुदाई के बाद मैं उसको अपने पास लिटाकर प्यार करने लगा और वो आई लव यू बोलकर मेरी बांहों में आ गई.

हम थोड़ी देर यू ही रिलेक्स हुए और थोड़ी देर बाद हम फिर से हॉट हो गए हालांकि उसने कहा कि रहने दो, उसकी चुत में दर्द हो रहा है, मैंने फिर भी उसको मना लिया.
अब मैं ममता की चुत चूसने लगा. मुझे उसकी चिकनी चुत अब और भी टेस्टी लग रही थी. वो भी मज़े से मेरा लंड चूस रही थी. फिर मैंने उसको अपने लंड पर बिठाया और धीरे-धीरे चोदने लगा. हम दोनों को इस बार ज़्यादा मज़ा आ रहा था. मैं ममता को अपने ऊपर बिठाकर चोद रहा था और वो बहुत मज़े से मेरे लंड पर उछल रही थी. उसकी चुत से अजीब सी ‘पुच्छ पुच्छ..’ की आवाजें आ रही थीं और वो बीच-बीच में मुझे किस भी कर रही थी.

ममता का गोरा बदन चमक रहा था और उसका मुँह लाल हो गया था, वो ‘आआह.. अहह अहह मेरे विक्की.. अब मैं रोज़ तुमसे चुदवाऊंगी.. अह.. मेरी चुत फाड़ दो.. आई लव यू.. आह..’ कहे जा रही थी.

उसकी कामुक सीत्कारें मेरा जोश बढ़ा रही थीं. फिर जब मैं झड़ने वाला हुआ तो मैं रुक गया और पोज़िशन बदल ली. अब वो घोड़ी बन गई और मैं उसको पीछे से चोदने लगा. वो लंड डलते ही एक बार और झड़ गई.

उसने हाँफते हुए मुझसे कहा कि वो थक गई है और कई बार झड़ चुकी है. तब मैंने उसको ज़ोर-ज़ोर से चोदा, जिससे वो एक बार और झड़ गई. उसे बहुत थकान हो गई थी और वो दर्द से कराहने लगी.
तब मैंने अपने लंड को उसकी चुत से निकाल लिया. वो तुरंत उठकर मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

अब हम दोनों थक चुके थे. मैंने उसको चार घंटे तक चोदा था. फिर हम साथ में नहाये, जहाँ मैंने उसकी चुत साफ़ की और उसने मेरा लंड चूसा और धोया. मैंने उसकी चुत में उंगली की. इधर वो इतनी एग्ज़ाइटेड हो गई कि वो झड़ने के साथ मूतने भी लगी.
हम दोनों ने नहा कर कपड़े पहने. उसने मुझे एक लम्बा किस किया. फिर हमने बिस्तर ठीक करके नाश्ता किया और उसने अनवॉंटेड की दवा ले ली. मैं और ममता अपनी पहली चुदाई के बाद बहुत खुश थे.


loading...
ममता और मैंने एक-दूसरे को चुदाई के बहुत मौके दिए और आगे की कहानी में मैंने कैसे ममता को रात में रूम पर बुलाकर चोदा और कैसे उसकी मालिश करके तेल लगाकर उसकी गांड मारी.. जो मुझे बहुत पसंद आई.
वो किस्सा आगे की चुदाई की हॉट सेक्स कहानी में लिखूंगा.

Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Sex Kahani, Desi Chudai Kahani, Free Sexy Adult Story, New Hindi Sex Story,muslim sex,indian sex,pakistani sex , Mastram , gandikhaniya.com , Gandi Khaniya ,  ahindisexstories.com

Thursday, 2 May 2013

Apne Bache Ki Phuddi Maari aur padosi se b marvayi || Indian Sex Story Stories || Gandi Kahaniya

Hello mera naam mishaal may 20 saal ka hoon hai may jo story ap ko aj batany ja raha hoo woh meri real aur mera 1st experience tha yeh baat aj say kuch hafty pehlay ki baat hai jb mere exams ho rahay thy achanak mere ghar walo ko hamari khala k ghar jana padha actually nani ki tabiyat kharab ho gaye thi isi liye.mujhe ghar may akela rahna padha q k mere papers ho rahay thy. Mere neighbours may 1 ladki rahti thi jis ka nam uzma tha woh meri girlfriend bhi thi hamari friendship ko 6,7 mahenay huye thy. 1 din may ghar may betha padh raha tha k achanak darwazay pay bell hui to maine dekha k uzma hai plate pakray hue khari thi hamary ghar kuch deny aie thi maine socha nahi tha k uch ho ga lakin....... Bas maine us ko andar bulaya aur darwaza lock kr diya main aur uzma pehlay kafi deer batay krty rahay phir achanak maine t.v laga liya to us may 1 sexy scene tha may change krny laga to us nay mana kr diya mera to lund kahara ho gaya aj maine 1st time us say aisi baat pochi thi maine pocha k kiya tumhe aisi chezay pasand hai to us nay mujhe hairan kr diya haa may jawab day kr. Mere mob may 1 blue print tha jo maine us din he apny friend say liya tha maine us openly poch kr us ko dekhai to us nay mana nahi kiya hum dono nay mil kar 7min ki sexy movie dekhi to us nay meri thighs may hath pherna shuru kr diya mera to khara ho gaya tha phir us nay mujhe kiss ki to may darr gaya lakin phir maine bhi himat kr k us ko kiss kr he di to us nay mujhe meri neck pay kiss krna shuru kr di to maine us k sath french kiss shuru kr di 5min tak hum kissing karty rahay lakin baad may maine jb us ki pussy may hath mara to woh bilkul wet thi may dar gaya lakin us nay bataya k jb hum movie dekhrahay thy yeh tab he ho gaya to maine us ki kameez utarna shrru ki to us nay mujhe manna kr diya lakin phir us nay khud he utari aur mere pas agaye mujhe kaha k mera bra kholo maine khula to maine us k nipple chusny laga mujhe bohat maza aya maine us ki kamar pay hath maraha tha k maine us ki shalwar bhi utar di ohir us nay mere bhi kapday utar diye

 jb hum dono naked ho gaye to hum bedroom may gaye aur jab maine us ko lund suck krny ko kaha to us nay manna kr diya phir maine us ko fuck krny ko kaha to woh mann gaye maine us ko bed pay litaya aur us k poray jism pay kissing krna shuru kr di mujhe bohat maza a raha tha aur woh bhi ooohhhh aaaaahhhhhhhhh. Ki awazy nikal rahi thi woh bohat garam ho gaye thi maine jab us ki tangay apny kandho may rakhi to us nay mujhe kaha k aram say krna dard hoti hai maine kaha may tumhe fuck nahi krta tum mera lund suck kro lakin woh nahi manni maine jab lund gila kiya to jab us ki pussy may dala to us ki pussy bohat tight thi jab maine kuch dhakay diye to maine khub chuda us ko lakin jab maine dekha k us ka khoon nahi nikla to may hairan ho gaya us nay batay k woh pehlay chudwa chuki hai to maine us ko 2 dafa farigh kiya jab may us ko fuck kr raha to maine us ko khoob kiss ki aur us k boobs ko chusa phir end may maine jab woh janay lagi to mera dobara khara ho gaya maine us ko dobara nanga kiya aur apny car girage may he chuda may nechay zameen pay leet gaya aur us ko bola k mere opar beth gaye mujhe bohat maza araha tha woh bhi pagal ho rahi thi mere sath sath 2 dafa farigh hye thi maine us ko nahany nahi diya lakin aglay din woh phir aye to maine us ko aty sath he nanga kiya aur dogy style may fuck kiya us din maie 2 dafa farigh hua mujhe bohat maza aya.q k maine kabhi aisa socha bhi nahi tha apni girlfriend k baray may.bas kiya kary lakin maza to bohat aya.ab mujhe jab bhi moqa milta hai may us ko chudta hoo aur ab us ki engagement ho chuki hai lakin may ab bhi us ko nahi chorta jab bhi moqa milta hai hum shuru ho jatay hai maine is k ilawa kisi aur female ko fuck nahi kiya. Ap ko meri story kaisi lagi ap mujhe mere is id gandikhaniya@gmail.com pay bata sktayhai.Agar aap ki age 16-32saal hai aur aap mujhse chudwana chahte hai to comments kare.


=======================================================================
माँ की ममता | Maa Ki Mamta ka fayeda uthaya  || Hindi Desi Sex Story || Gandi kahaniya by Mastram Sex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai Kahaniya ,Hindi Sex Stories, Indian Sex Stories, Hindi Sex Kahani, Desi Chudai Kahani, Free Sexy Adult Story, New Hindi Sex Story,muslim sex,indian sex,pakistani sex,Mastram, antarvasna,Aunty Ki Chudai, Behen Ki Chudai, Bhabhi Ki Chudai, Chut Ki Chudai, Didi Ki Chudai, Hindi Kahani, Hindi Sexy Kahaniya, Gandi kahaniya, indian sex stories, Meri Chudai,meri chudai, Risto me chudai, Sex Jodi, आंटी की जमकर चुदाई, इंडियन सेक्सी बीवी, चुदाई की कहानियाँ,देसी, भाई बहन choot , antarvasna , kamukta , Mastram, bare breasts,cheating wife,cheating wives,cum in my mouth,erect nipples,hard nipples,horny wife,hot blowjob,hot wife,jacking off,loud orgasm,sexual frustration,shaved pussy,slut wife,wet pussy,wife giving head,wives caught cheating,anal fucking,anal sex,anal virgin,bad girl,blowjob,cum facial,cum swallowing,cunt,daddy daughter incest story,first time anal,forced sex,fuck,jerk off,jizz,little tits,lolita,orgasm,over the knee punishment,preteen nude,puffy nipples,spanking,sucking cock,teen pussy,teen slut,tight ass,tight pussy,young girls,young pussy,first time lesbian,her first lesbian sex,horny girls,horny lesbians,hot lesbians,hot phone sex,lesbian girls,lesbian orgasm,lesbian orgy,lesbian porn,lesbian sex,lesbian sex stories,lesbian strap on,lesbian threesome,lesbians,lesbians having sex,lesbians making out,naked lesbians,sexy lesbians,teen lesbian,teen lesbians,teen phone fucks,teen sex,threesome,young lesbians,butt,clit,daddy’s little girl,nipples,preteen pussy,schoolgirl,submissive teen,naughty babysitter,older man-younger girl,teen babysitter, gandikhaniya.com has some of the best free indian sex stories online for you. We have something for everyone right from desi stories to hot bhabhi and aunty stories and sexy chats. All Indian Sex Stories - Free Indian Stories Across Categories Such As Desi, Incest, Aunty, Hindi, Sex Chats And Group Sex, Read online new and hot सेक्स कहानियाँ on Nonveg Story : Sex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai KahaniyaSex Story, Sexy Story, XXX Story, Hindi Sex Kahani, Sex Kahani, Chudai Kahani, Chudai Story, Bhabhi Sex Story, Indian Sex Story, Desi Kahani, Adult Sex Story, Hindi Sex, Chudai Kahaniya , gandi kahaniya
========================================================================

loading...

loading...

loading...

loading...